The Latest | India | [email protected]

1 subscriber(s)


25/01/2022 Harsh Manaswi Romance Views 103 Comments 0 Analytics Hindi DMCA Add Favorite
जब से तेरा जिक्र हुआ ।
रात ठहर गई है मुझमें
जब से तेरा जिक्र हुआ ।
कुछ तो ऐसा तुझमें है 
जो चांद को तेरा फिक्र हुआ ।

तेरी बातें करते करते 
मैं भी शायर हो रहा हूं ।
तेरी इन यादों के अंदर 
पागल सा मैं हो रहा हूं ।

तेरी बात में ऐसा जादू है 
तेरा मैं जो सच्चा मित्र हुआ ।
कुछ ऐसा तुझमें है जो..
चांद को तेरा फिक्र हुआ ।


                             
 Sms on you mobile for India only else use your mail id to get the otp...!    Please tick to get otp in your mail id...!
 




© mutebreak.com | All Rights Reserved