The Latest | India | [email protected]

55 subscriber(s)


K
22/01/2024 Kajal sah Development Views 331 Comments 0 Analytics Video Hindi DMCA Add Favorite Copy Link
कलाम जी की अनमोल सीख....
"भारत " जब भी यह कोई शब्द भारतीय सुनते है, तब उनके अंदर ताजगी, उमंग, उल्लास जागृत हो जाता है। क्या आप जानते है? भारत शब्द का अर्थ क्या है? भारत दो शब्दों से मिलकर बना है "भा" जिसका संबंध प्रभात, प्रकाश, प्रभा होता है और "रत " का अर्थ होता है- लगा हुआ, जुटा हुआ। यानि हम उस देश की नागरिक है, जो प्रकाश की खोज में जूटा हुआ है। बंजर से लेकर उर्वरता यानि विनाश से विकाश की राह पर ऐसे भारत के विभिन्न महान लोगों का अमूल्य योगदान है। जिन्होंने हर लोगों में ऊर्जा, प्रेम, सादगी, परोपकार के भाव को भर दिया। आज हम सभी उनके बहुमूल्य कार्य और अनमोल विचारों से प्रेरित होकर अपने जीवन में आगे बढ़ रहें है।
आज ऐसे महान व्यक्तियों में एक ऐसे महान व्यक्ति जिन्होंने निहित नैतिकता, कड़ी मेहनत और सच्चाई के राह पर चलने का अनुपम शिक्षा दी। आज उनके सीख को आज मैं सभी के सामने प्रस्तुत करूंगी।
एपीजे अब्दुल कलाम जिनका सादा जीवन और उच्च विचार से पूर्ण जीवन था। जिन्होंने अपने कड़ी मेहनत, प्रयास और सकारात्मक सोच से भारत की पहचान पुरे विश्व में बनायी। ऐसे महान व्यक्ति के सबसे अमूल्य सीख निम्नलिखित है :

1. सपना : कलाम जी के अनुसार सपना वह नहीं जो हम नींद में देखते है, बल्कि सपना तो वो है जो हमें सोने ही ना दे। अगर आपको गरीब की बाधा तोड़नी है, अपनी पहचान बनानी है, तब आपको सबसे भी बिग देखना होगा। अगर आपके अंदर देखने की काबिलियत है, तब आपके अंदर पूर्ण करने की क्षमता है। सपने के मंजिल तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत, ध्यान, प्रयास और अभ्यास को अपने जीवन में आत्मसात करे। सफलता का कोई शार्ट कट नहीं होता.. सफलता त्याग मांगती है।

2. निरंतर : सीखना जीवन पर्यन्त क्रिया है। जीवन में हम जितना सीखते है, उसे हमारा दृष्ठिकोण, व्यक्तिगत में परिवर्तन आता है। अब्दुल कलाम जी ने सफलता के चार सूत्रों में निरंतर सीखने को भी सूत्र बताया। हम जितना सीखते है, उससे हमारा आत्मविश्वास, आत्मबल, आत्मज्ञान और आत्मशक्ति का विकास होता है। इसलिए जब भी सीखने का अवसर मिले पूरा कमिटमेंट के साथ सीखें।

3. क्रिएटिविटी : कार्य सभी करते है, लेकिन किसी कार्यों को बेहतरीन तरीके से प्रस्तुत करने में क्रिएटिविटी की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कलाम जी ने हर  युवा को क्लियर विज़न के साथ  अपने कार्यों में विभिन्न क्रिएटिविटी सीखने की सीख दी है।हम अपने जीवन में लोगों के अनुभव से सीखकर अपने जीवन में सीख को ला सकते है। लेकिन साथ ही साथ स्वयं के मजबूती को पहचान कर अपने कार्यों में यूनिक को लाना अत्यंत जरुरी है।

फेलियर : मेरे बुक में स्ट्रांग रुट नामक एक कहानी है, जिसके लेखक कलाम जी है। वह कहानी मुझे बहुत प्रभावित करती है। जीवन में हार - जीत जीवन के महत्वपूर्ण पहलु है। जब हम जीवन में हारते है, तब हमें हार का कारण जानना चाहिए। हर हार से हमें नवीन सीख लेकर अपने जीवन में आगे बढ़ना चाहिए। जब भी हमारे जीवन में कठिन मार्ग आता है। हमें चुनौतियों से घबराना नहीं चाहिए, क्युकी हर चुनौतियाँ हमारे लिए एक अवसर लाती है। हम स्वयं का विश्लेषण कर पाते है। हमें अपने माइंडसेट को सकारात्मक बनाना है।हर फेलियर की सीख सफलता की सीढ़ी का कदम है।

मदद : इस छोटे से जीवन में ना तो मैं भौतिक संसाधन लेकर जाऊँगी ना ही आप। हम केवल अपना कर्म लेकर जायेंगे। मनुष्य में जन्म होने के नाते हमें हमेशा अपने मानवीय गुणों का पालन करना चाहिए। जीवन में ईमानदारी, दया, करुणा, अपनत्व इत्यादि भावना को आत्मसात करना चाहिए। अपने अनुसार जरूरतमंद लोगों की जरूर मदद करनी चाहिए।

टीम : एक और एक ग्यारह। यानि संगठन में इतनी शक्ति है, जिससे हर कठिन, असंभव कार्य संभव हो सकता है। आज हम स्वाधीन भारत में जी रहे है, क्युकी यह आजादी की लड़ाई एक व्यक्ति ने नहीं व्यक्तियों के समूह ने मिलकर किया था। आज हम सभी को एकता की शक्ति को पहचान कर अपने जीवन में आत्मसात करना होगा। आज भारत देश की आंतरिक दुश्मन को हराना है। यह आंतरिक दुश्मन बीमारी, आंतकवादी इत्यादि है। हम सभी यूनिट में रहकर श्रेष्ठ भारत बनाने का प्रयास करना है।

नया : आज बहुत सारी कंपनी अन्य कंपनी के सामने पिछड़ रही है। इसका सबसे बाद कारण है - समय के अनुसार स्वयं को बदलना। जिसने समय के अनुसार खुद को अपडेट किया, innovate किया। वे जीवन में आगे बढ़े क्युकी बढ़ते समय, प्रतियोगिता के  दुनिया में उन्होंने स्वयं को innovate किया। आज हम तकनीकी युग में जी रहें है। अत्यंत महत्वपूर्ण है, कि आप बढ़ते समय के अनुसार नये - नये स्किल्स को सीखते रहे। स्वयं को हमेशा एक स्टूडेंट समझे। यह सोच ही आपको बहुत आगे बढ़ने में मदद करेंगी।

वैल्यू : दुनिया की सबसे अनमोल धरहोर समय है। समय वह सशक्त शक्तिशाली है, जो आपको हीरो से ज़ीरो बना सकती है। इसलिए यह अत्यंत जरुरी है, कि अपने समय का सदुपयोग करे। हर टाइम का प्रभावशाली, बुद्धिमत्ता के साथ उपयोग करे।
आज का उपयोग किया हुआ समय ही आपका भविष्य निर्धारित करती है।

Belive : विवेकानंद जी ने भी कहा था -ब्रह्मणड कि सारी शक्तियां हमारे पास है। लेकिन हम मुर्ख है, क्युकी हमने अपने आँखो को अपने हाथों से बंद कर लिया है। और कहते है कि कितना अंधेरा है, कितना अंधेरा है। अपने हाथों को अपने नेत्र से हटाए। और अपनी शक्ति पर विश्वास करे। स्वयं पर विश्वास रखे, जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। अपने योग्यता को पहचानकर जीवन में आगे बढ़े।
यह सोच ही आपको कभी हार नहीं मानने देगी। स्वयं को शक्ति पहचाने  और जीवन में सकारात्मक मार्ग, सकारात्मक कार्य की ओर बढ़े।

यह महत्वपूर्ण सीख भारत देश के   president,सच्चे देशभक्त, विचारक कलाम जी को सत - सत प्रणाम। हमें उनके सीख को एक अच्छे जीवन, आर्गेनाइज जीवन के लिए जरूर से जरूर लाना चाहिए।
धन्यवाद
काजल साह
                             

Related articles

 WhatsApp no. else use your mail id to get the otp...!    Please tick to get otp in your mail id...!
 





© mutebreak.com | All Rights Reserved