The Latest | India | [email protected]

55 subscriber(s)


K
23/03/2024 Kajal sah Development Views 318 Comments 0 Analytics Video Hindi DMCA Add Favorite Copy Link
नकारात्मकता का अंत कैसे करे?
नकारात्मक सोच वह खर -पतवार के भाँति है, जिससे आपका विश्वास, नॉलेज, हिम्मत, गुण धीरे -धीरे समाप्त होने लगता है। नकारात्मक सोच.. सबसे बड़ा शत्रु है, क्युकी यह सोच इतना खतरनाक होता है... जिससे मनुष्य का अस्तित्व हनन की ओर बढ़ने लगता है । जीवन में आगे बढ़ने के लिए आपको सकारात्मक सोच को अपने जीवन में आत्मसात करना होगा... अच्छी आदतों को अपने जीवन में आत्मसात करना होगा।
आज मैं आपको बताने वाली हूँ कि अगर आप आप नेगेटिव थॉट को कैसे आप दूर करे।

1.धन्यवाद : अगर आप भी नेगेटिव विचार को अपने जीवन से दूर करना चाहते है। तब आपको अपने जीवन में हर छोटी  से बड़ी चीज़ों को अपने जीवन में धन्यवाद करना चाहिए। आप जितना ईश्वर का धन्यवाद करेंगे। आपके विचार शुद्ध, सकारात्मक और सुंदर धीरे -धीरे होने लगेगा। जीवन में रिप्लेसमेंट जरूर करे। आपको रिप्लेसमेंट करना है.. नेगेटिव थॉट्स को सकारात्मक थॉट्स को।

चुनौती : आपका जंग.. आपका खुद से। आपको ही इस नकारात्मक सोच को जड़ से दूर करने का प्रयास करना। स्वयं को रोजाना चुनौती दीजिये। स्वयं को चुनौती दे.. कि आज मैं अपने नेगेटिव थॉट्स को सकारात्मक में परिवर्तन करूँगा /करुँगी। स्वयं को चुनौती दे..। जब भी आप नेगेटिव थॉट्स से गुजर रहें होंगे.. तब उसका बदलाव पॉजिटिव टोन में करे।

व्यायाम : स्वास्थ्य सबसे बड़ी पूंजी है। जब हम मानिसक और शारीरिक रूप से स्वस्थ्य रहते है.. तब सकारात्मक विचार, सकारात्मक कार्य इत्यादि से संबंधित गुणों का विकास होता है। लेकिन अगर आप डीपली अपने मानिसक और शारीरिक स्वास्थ्य पर कार्य नहीं करते.. तब जल्द ही आप नेगेटिव थॉट्स, नेगेटिव कार्य अपना घर बना लेगी। इसलिए आपको अगर इसको हराना है.. अपने मेन्टल और फिजिकल हेल्थ को स्ट्रांग बनाने का पूरा बेहतरीन तरिके से प्रयास करे। प्रात : काल उठकर विभिन्न फिजिकल एक्सरसाइज (विभिन्न व्यायाम, आउटसाइडर गेम्स खेले )स्वामी जी के अनुसार दुनिया एक व्यायामशाला है... जहां हम सभी आते है. स्वयं को शक्तिशाली बनाने के लिए। अपने पैसों को सीखने में इन्वेस्ट करे।

बंद :आपको अपने जीवन से उन सभी  चीज़,  व्यक्ति को दूर कर देना है.. जिससे आप नकारात्मक महसूस कर सकते है। नकारात्मक न्यूज़, नकारात्मक लोग इत्यादि। इन सभी को आप जितना consume कीजियेगा.. आपका आत्मविश्वास, आत्मशक्ति और आत्मज्ञान नष्ट होने लगता है। सोशल मीडिया महावरदान है..अगर हम इसका उपयोग सही रूप से करते है.. तब। अगर आप भी नेगेटिव थॉट्स के कारण बहुत परेशान हो चुके है। अगर आप नेगेटिव थॉट्स को अपने जीवन से दूर करना चाहते है.. तब आपको आज से ही अभी से ही नेगेटिव थॉट्स, नेगेटिव थिंग्स को अपने जीवन से शीघ्रता से दूर करना है।

ट्रीट :आप खुद के सबसे अच्छे दोस्त है.. और खुद के सबसे अच्छे दुश्मन भी। लेकिन प्रश्न यह है कि आप खुद के साथ कैसे खुद को ट्रीट करते है? अगर आप खुद के साथ नेगेटिव रूप से ट्रीट करेंगे.. खुद के प्रति करुणा भाव का अभाव, समझ का अभाव इत्यादि जब आप स्वयं के साथ करते है.. तब आपके जीवन में नकारात्मकता अपना घर बनाने लगती है।जब आप स्वयं से घृणा करने लगते है..तब यह नेगेटिविटी आपके ऊपर पूर्ण रूप से अपना घर बना लेती है। अगर आपको नकारात्मकता को अपने जीवन से हमेशा के लिए दूर करना है.. तब आपको स्वयं के प्रति करुणा भाव, प्रेम भाव, समझ भाव को जागृति करने का अभी से प्रयास करना होगा।

केंद्रित :जब आप जीवन शब्द को दो भागो में विभाजित करते है.. तब जी का अर्थ - जीवन और वन यानि जंगल। अर्थात जीवन उसे कहते है जहां हम विभिन्न खुशियों,समस्याओं का सामना, हँसी - ख़ुशी इत्यादि सभी  पलों से गुजरते है। लेकिन जब हम नकारात्मक विचार से ग्रसित होते है.. तब जीवन में आए समस्याओं से हम डर जाते है और हमारा ध्यान समस्याओं की ओर अग्रसर अग्रसित होता है।अगर आपको अपने जीवन से नकारात्मकता का अंत करना है.. तब जीवन में आए समस्याओं के हल तरफ आपको ध्यान केंद्रित करना है। आपको अपने माइंड को यह कहना है कि हर अवरोध मेरे लिए अवसर के भाँति है। जब भी जीवन में कठिन सिचुएशन आए.. तब आपको स्वयं से कहना है कि मैं इन समस्याओं का निवारण कर सकता /कर सकती हूँ। बस आपको शान्तिमय से समस्याओं को हल करने की ओर ध्यान देना है।

हॉबीस :मन को शांति और नकारात्मक विचारों को दूर करने का सबसे बेहतरीन तरीका है आप अपने पसंदीदा हॉबीस में जुड़े। जिससे आपके मन को ख़ुशी मिलती है। जब हम अपने पसंदीदा हॉबीस में इंगेज होते है.. तब आपके जीवन से नकारात्मक अंत होने लगता है।जब भी आपको ऐसा लगे कि नकारात्मक सोच आप पर हावी हो रहा है.. आपकी गलत दिशा की ओर ले जा रहा है। तब आप उस समय सकारात्मक कार्य की ओर स्वयं को मूव करे। जैसे : अगर आपको ड्राइंग रूचि है, स्पीकिंग में रूचि है, लेखन इत्यादि। आप अपना समय उन कार्य में इन्वेस्ट करे। यकीन मानिये यह कारगर तरीका हो सकता है..अपने नेगेटिव थॉट्स पर जीत हासिल करने का।

रोजाना :अपने जीवन से ऐसे लोगों, चीज़ों को दूर कर दे। जिससे आप ज्यादा प्रभावी हो रहें है.. नकारात्मक की ओर।ऐसे हर कार्य को अपने जीवन से जल्द से जल्द दूर करने का प्रयास करना होगा। आपको रोजाना पॉजिटिव affirmation यानि स्वयं से सकारात्मक बातें रोजाना कहना है। सबसे पहले आपको एक मजबूत और सशक्त गोल अपने जीवन में तय करना होगा.. और अपने गोल के पूर्ण के लिए स्वयं को हमेशा सकारात्मक शब्द कहे। स्वयं के पॉजिटिव self talk करे। आपको इस हैबिट को रोजाना निरंतर अभ्यास करने की आवश्यकता होगी। धीरे - धीरे आपको सकारात्मक शक्ति का पॉजिटिव डोज़ मिलने लगेगा। आपके जीवन से नकारात्मक विचार या कार्य सकारात्मकता में बदल जाएगी।

पास्ट :नकारात्मक सोच हम इसलिए भी घिर जाते है.. क्युकी हम पास्ट के मोमेंट्स को याद अपने वर्तमान समय में बार - बार याद करके अपनी ऊर्जा, उत्साह व्यर्थ कर रहें होते है। जिससे हमारा प्रेजेंट व्यर्थ बीतने लगता है.. अगर आज अपने प्रेजेंट का मिसयूज किया.. तब उसका व्यापक प्रभाव और नकारात्मक प्रभाव आपके फ्यूचर पर पड़ता है। इसलिए हमेशा प्रयास करे.. कि पास्ट को फ़ास्ट तरिके से भूल जाए। आपका फोकस वर्तमान यानि now होना चाहिए। इसका जितना हो सके अच्छे से सदुपयोग करे और अपने जीवन को एक नई दिशा और सकारात्मक दिशा दे।

मत : हमेशा याद रखे इस छोटी सी जिंदगी आपका कम्पटीशन केवल खुद से। The battle is between you vs you. अक्सर हम अपनी तुलना अन्य से करते रहते है। जिससे हम स्वयं को कमजोर समझकर स्वयं को गलत -गलत बातों से स्वयं को चोट पहुँचाते है। जिससे धीरे -धीरे नकारात्मक विचार अत्यधिक रूप से बढ़ने लगता है। और हम नकारात्मक दिशा की ओर अग्रसर होने लगते है। इसलिए यह जरुरी है कि अगर आपके अंदर भी यह अवगुण है.. तब आपको अपने जीवन जल्द से जल्द दूर करने का प्रयास करना होगा। स्वयं का तुलना दूसरों ना करे। आप दूसरों से सीखें.. लर्निंग अपने जीवन में उतारकर अपने जीवन को सकारात्मक दिशा दे।

हेल्प : अगर आपने स्वयं से बहुत प्रयास किया.. लेकिन आप  बार -बार विफल हो जा रहें है। तब आप अपने घर के बड़ो से, अपने गुरु से जरूर मदद ले। उनके अनमोल टिप्स आपके लिए बहुत कारगर हो सकता है। इसलिए उनसे सलाह लेने में ना हिचके।

यह कुछ तरिके है.. जिसके माध्यम से आप नकारात्मक विचारों को अपने जीवन से दूर कर सकते है। आपको नकारात्मक विचार को दूर करने के लिए आपको निरंतता प्रयास करना होगा। उपरोक्त दिए गए टिप्स को धीरे -धीरे अपने जीवन में अप्लाई जरूर करना चाहिए।
आशा करती हूँ कि यह आपके लिए हेल्पफुल होगा। चलिए अब आपसे मुलाक़ात होगी.. अगले निबंध में।
धन्यवाद
काजल साह
                             

Related articles

 WhatsApp no. else use your mail id to get the otp...!    Please tick to get otp in your mail id...!
 





© mutebreak.com | All Rights Reserved