The Latest | India | [email protected]

55 subscriber(s)


K
21/03/2024 Kajal sah Achievement Views 325 Comments 0 Analytics Video Hindi DMCA Add Favorite Copy Link
सफलता लक्ष्य या यात्रा?
युवा शब्द का अर्थ केवल एक आयु वर्ग को परिभाषित करने से परे है। युवा मतलब वह जिनमें ऊर्जा, उत्साह, परिवर्तन की इच्छा और संसाधनों को उपयोग करके अपने जीवन को सशक्त और देश को सुंदर बनाने का जूनून हो।
युवा वह अवस्था है जब व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से विकसित हो रहा होता है। यह परिवर्तन और खोज का समय। युथ किसी भी देश की सबसे मजबूत एवं सशक्त शक्ति है। उनके मजबूत और दृढ़ विचार, कार्य, मूल्य और अनुभव ही हमारे देश को विकसित बनाने में मुख्य भूमिका अदा कर सकती है।
आज हम सभी 21 वीं सदी में आ चुके है। आज हमारे भारत देश में विभिन्न सकारात्मक परिवर्तन हुए है। सकारात्मक बदलाव में युथ का बहुत योगदान रहा है। लेकिन एक तरफ हमारे देश के युथ आगे बढ़े रहें है। वही दूसरी तरफ विभिन्न युवा गलत दिशा की ओर अग्रसर हो रहें है। क्या यह संभव है? आधी जनसंख्या से क्या हमारे देश विकसित भारत बन पायेगा? उत्तर है नहीं।भारत को सशक्त रूप से विकसित और सर्वोच्च बनाने के लिए सारे युथ का योगदान होना आवश्यक है। हर युथ में सशक्त शक्ति, ऊर्जा, गुण है जिससे वे जीवन के हर उन्नति को चुम सकते है और एक खुशहाल जीवन जी सकते है। आज मैं युथ के लिए कुछ मुख्य बातें साझा करना चाहती हूँ। जो हर युथ को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए।

1. शिक्षा : लोग आपसे सबकुछ आपसे छीन/चुरा सकते है। लेकिन आपके ज्ञान, बुद्धि, शिक्षा कोई चुरा नहीं सकता। शिक्षा शेरनी का वह दूध है.. जो पियेगा वही दहारेगा।सबसे पहले आपका ध्यान शिक्षा पर होना चाहिए।आपको निरंतता सीखते रहना है। आप जितना सीखते है.. आपका आत्मविश्वास, आत्मज्ञान बढ़ता है। आपका मुख्य और सशक्त लक्ष्य होना चाहिए.. लर्निंग।

2. टाइम : समय के पास भी समय नहीं है आपको फिर से समय देने के लिए। समय बहुत बलवान होता है। अगर आज आप समय का मिसयूज कर रहें है.. तब एक दिन जरूर समय भी आपका कतरा -कतरा निचौड़ लेगा। इसलिए समय का दुरपयोग ना करे।अपने स्टडी, अपने खाली समय और अपने जिम्मेदारी का सही से समन्वय रखे। आप देश के भविष्य, कल के नेता है और कल के कर्णधार है।

जिज्ञासु : आवश्यकता और जिज्ञासा अविष्कार की जननी है। मन में उठे प्रश्न को छुपाये नहीं। अपने मन को जिज्ञासावर्धक बनाये।आप विषय को लेकर जितना कुरियस बनते है, आपका ब्रेन सशक्त तेज़ होता है।जिज्ञासु चरित्र आपको विभिन्न अवसर देता है..जिज्ञासा से आपका इमेजिनेशन पॉवर सशक्त रूप से बढ़ता है। आप अत्यधिक रूप से आत्मविश्वासी लगते है। अगर आपकी भी आदत है.. हर प्रश्न में "हाँ "कहने की। तब इस आदत में परिवर्तन लाये। विषय से संबंधित प्रश्न पुछे।

सॉफ्ट स्किल : आज हम सभी ai के दुनिया में धीरे -धीरे आ रहें है। अगर आप हार्ड स्किल सीखने के इच्छुक है।आप उसे जरूर सीखिए लेकिन हार्ड स्किल के क्षेत्र में कार्य करने के लिए आपके पास सॉफ्ट स्किल भी जरूर होना चाहिए। आप जिस भी क्षेत्र में जाना चाहते है। अच्छे से तैयारी करे। लेकिन साथ ही साथ अनिवार्य रूप से अपने व्यक्तिगत विकास के लिए सॉफ्ट स्किल्स जरूर सीखें। जैसे : कम्युनिकेशन स्किल, टीमवर्क, adaptability इत्यादि। समय की रफ्तार आप देख ही सकते है.. कोविड के 4 साल हो गए।इसलिए समय का उपयोग करे।क्युकी समय के पास नहीं है,आपको फिर से समय देने के लिए।

फेलियर : आज जैसे -जैसे बड़े होंगे।आपको विभिन्न क्षेत्रों में असफलता प्राप्त हो सकती है।कभी आपका हौसला,उम्मीद और चाहत टूटने लगेगा।लेकिन कठिन समय में.. फेलियर के घड़ी में आपको स्वयं को सशक्त बनाना है लर्निंग के लिए।आपको सशक्त बनाना है,जिस गलती से आप हारे है.. उसे रिपीट ना करे।हर अवरोध आपको अवसर समझना।फिर से एक योद्धा बनकर आपको उठना है..फिर अपनी मेहनत से, अपने जिद्द से हर सपनों को पूर्ण करके दिखाना है।

हेअल्थी : जब आप मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेंगे.. तब आप जीवन के हर बुलंदियों तक पहुँच पायेगा।आप देश के भविष्य है..देश के कर्णधार है,देश के चमकते सितारें है।आपको अपना ख्याल ध्यानपूर्वक रूप से रखना चाहिए।अपने रूटीन में हेअल्थी हैबिट्स को स्थान दीजिये।व्यायाम,सही भोजन,सही नींद, किताबों का अध्ययन,spirituality को स्थान दीजिये।

फाइनेंस : दुख की यह बात है!स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई राजाओं,अल्फा -बीटा -गामा,केमिकल इत्यादि विषय तक ही सीमित रह गई।जो मुख्य विषय है.. जो अत्यधिक रूप से उसके बारे में जानकारी हासिल करना अनिवार्य है।वह है फाइनेंसियल नॉलेज।आप जितने भी ऐज में आप शीघ्रता से फाइनेंसियल से संबंधित ज्ञान हासिल करे।यह ना सोचे कि अभी मैं अर्निंग करता /करती नहीं हूँ। यह धारणा कभी आपको आगे नहीं बढ़ने देगी। अच्छे से ज्ञान अर्जित करे और अपने जीवन में लाये।

अनुभव : अनुभव में वह शक्ति है, जिससे आप व्यक्तित्व मजबूत होता है। आप अपने रूचि के अनुसार जॉब, इंटर्नशिप, volunteering जरूर करे। या आपको जिस फील्ड में रूचि है या आपका जो लक्ष्य है। उस क्षेत्र में जरूर एक्सपीरियंस गेन करे। यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाती है और आपको अनेक अवसर मिलते है।

लोगों से जुड़ना सीखें :लोगों से जुड़ना सीखें। जितना आप लोगों से जुड़ेंगे आपका सोशल स्किल बेहतरीन होगा। जितना बेहतर सोशल स्किल होगा... आप बेहतरीन तरिके से अपने सर्विस और अपने प्रोडक्ट को सबके सामने प्रस्तुत कर सकते है। आज मैं आपको कुछ टिप्स बताऊंगी कि आप सोशल स्किल को कैसे बेहतरीन कर सकते है।
1. जब भी आप किसी इवेंट, पार्टी इत्यादि में होते है। अगर आप किसी व्यक्ति से बात करना चाहते है। लेकिन आपको डर लग रहा है। तब मैं आपको ऐसा कारगर तरीका बताऊंगी.. जो आपको रोजाना फॉलो करना है। सबसे पहले आप सोचे कि अगर जिस भी लोगों से जुड़ेंगे आपको कितना बेनिफिट होगा। आप एक पेज में सारे बेनिफिट को लिख ले।और स्वयं को हमेशा याद दिलाते रहें।

2. काउंट (1,2,3,4,5) इसे आप मन में काउंट करे। और जैसे ही खत्म हो। आप उस व्यक्ति के पास चले जाए। जिनसे आप बात करना चाहते है।

3. शोल्डर : आपको पता है.. हमारा एक छोटा सा दुश्मन है। जो हमेशा हमारे कंधे पर सवार रहता है। जो आपको हमेशा आगे बढ़ने से रोकता है। अवसर को पाने से रोकता है। अगर आज इसको आप गलत साबित नहीं करेंगे.. तब यह बढ़ता चला जाएगा।फिर यह आपको कभी आगे बढ़ने नहीं देगा। आपको सबसे पहले स्वयं में जीत हासिल करनी है (win your self )


टेक्नोलॉजी : अत्यधिक लोगों को डर है कि बढ़ते समय के साथ टेक्नोलॉजी जॉब सभी का छीन लेगा। लेकिन वास्तविक रूप से नहीं भी हो सकता। अगर आज के युवा स्वयं को टेक्नोलॉजी यानि ai से सम्बंधित क्षेत्र में ज्ञान हासिल करे।आज आपके तकनीकी का दिया हुआ.. सबसे बेहतरीन तोहफा इंटरनेट है। जिसका का आप उपयोग अपने स्किल्स, डिजिटल नॉलेज को हासिल करने में कर सकते है। समय के अनुसार स्वयं में अपडेट करते रहिये.. उदाहरण के लिए आप नोकिआ कंपनी को देख ही सकते है।

इन्वेस्ट : इन्वेस्ट एक अच्छी या बुरी आदत है। लेकिन प्रश्न यह है कि आप इन्वेस्टमेंट कहाँ करते है?अगर आप बुरी आदतों में करते है.. तब उसका परिणाम बुरा ही होगा। आप अपने इनकम का 10% अपने मेन्टल हेल्थ में इन्वेस्ट कीजिये। क्युकी सारा खेल माइंड का है। आपको अपने माइंड को स्ट्रांग बनाना है। इसलिए फर्स्टली इन्वेस्ट yourself..

गाइड : हम जिस उम्र है.. उस उम्र में गलतियां बहुत हो सकती है। गलतियों से बार -बार समय भी व्यर्थ होने लगता है। इसलिए यह जरुरी है कि आप अपने बड़ो से सलाह ले। क्युकी उनके पास अनुभव, ज्ञान और कौशल है.. आपको सही से मार्गदर्शन करेंगे। इसलिए सलाह लेने में शर्म ना करे।

हम्बल : सफलता लक्ष्य नहीं.. यात्रा है। आपको इस यात्रा में सीखते -सीखते पहुंचना है। किसी के प्रति रूडली व्यवहार ना लाये। अपने अंदर के बुरे अवगुणों को पहचाने। बुरे गुणों को अपने जीवन से दूर करने का प्रयास करे। भगवान को हमेशा धन्यवाद करे..जो भी ईश्वर ने आपको दिया है।

मैनेज : जीवन का नाम ही है... दुख और सुख। जब जीवन में दुख आता है.. तब स्ट्रेस का लेवल इतना बढ़ जाता है कि हमारा आत्मविश्वास, आत्मज्ञान और आत्मशक्ति कमजोर होने लगती। आपको दुख के समय अपने स्ट्रेस को मैनेज करना है। और पूरा ध्यान आपके लक्ष्य की ओर होना चाहिए।

भरोसा : जिससे खुद पर भरोसा होता है.. वही एक दिन इतिहास रचता है। आप उपरोक्त कार्य तभी आप कर सकते है। जब आप स्वयं पर भरोसा रखेंगे.. अपने सशक्त विश्वास के साथ अपने ऊपर ध्यान रखेंगे। आपका पहला प्रेम आप खुद और आपका अंतिम प्रेम आप स्वयं ही। इसलिए फोकस only your करियर।
अगले निबंध में आप लोगों से मिलती हूँ। तब तक के लिए अपना ध्यान रखिये और हद पार मेहनत कीजिये.. एक दिन जरूर जीत आपकी होगी।
धन्यवाद
काजल साह
                             

Related articles

 WhatsApp no. else use your mail id to get the otp...!    Please tick to get otp in your mail id...!
 





© mutebreak.com | All Rights Reserved